2016-04-02 15:05:00

ताईवान में बच्ची के हत्यारे को मौत की सजा पर जोरदार बहस


ताईवान, शनिवार, 2 अप्रैल 2016 (ऊकान): ताइपे में एक अजनबी द्वारा 4 वर्षीय बच्ची की हत्या की खबर ने ताइवान में फाँसी की सजा के इस्तेमाल को लेकर चल रहे बहस को फिर से ताजा कर दिया है।

28 मार्च को बच्ची और उसकी माँ क्लेयर वांग साइकिल से मेट्रो स्टेशन की ओर जाते वक्त 33 वर्षीय बेरोजगार आदमी ने उनपर हमला किया और बच्ची का सिर माँस काटने वाले बड़े छूरे से काट दिया। संदिग्ध वांग चिंग-यू को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। उनके अनुसार वांग चिंग-यू मादक पदार्थों का सेवन करता है और मानसिक रुप से बिमार है।

विदित हो कि सन् 2010 के बाद 32 अपराधियों को फाँसी की सजा मिली है। इस हमले ने आक्रोश जनता में मौत की सजा के बहस को फिर से ताजा कर दिया है। 24 घंटे के अंदर फेसबुक में “ बच्चों के हत्यारों के खिलाफ मौत की सजा के समर्थन” पर 230,000 लोगों ने साझा किया जबकि 240,000 लोगों ने “पसंद” पर अपनी सहमति दिखाई है।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी लिन यी सीन ने फेसबुक में मौत की सजा समर्थकों को जवाब दिया, “ मुझे पता है कि हर कोई दुःखी और गुस्से में है लेकिन  मौत की सजा विरोधियों पर चिल्लाने मात्र से समस्या का समाधान नहीं हो सकता।”

ताईवान में संत पापा के पूर्व प्रतिनिधि धर्माध्यक्ष पोल रुसेल ने कहा कि उन्हें खेद है उनके कार्यकाल में सन् 2008 में मौत की सजा को समाप्त करने हेतु शुरु किए गये आंदोलन के लिए कुछ भी नहीं कर पाये। 30 मार्च को उन्होंने कहा, “हम मौत की सजा समाप्त करने के लिए आम जनता की सहमति पाने में असफल हैं।”

दया के वर्ष के कार्यक्रम के अंतर्गत फरवरी महीने में संत पापा फ्राँसिस ने मौत की सजा के प्रयोग पर विश्वव्यापी प्रतिबंध लगाया है। उनके अनुसार मौत की सजा देना समस्या का समाधान नहीं है।








All the contents on this site are copyrighted ©.