2014-08-07 11:50:34

हिरोशिमाः परमाणु आक्रमण के 69 साल बाद लोगों ने सरकार से की शांति की मांग


हिरोशिमा, गुरुवार 07 अगस्त सन् 2014 (एशियान्यूज़): हिरोशिमा पर सन् 1945 ई. में अमरीका द्वारा परमाणु बम आक्रमण की बरसी पर बुधवार को हज़ारों लोग हिरोशिमा में प्रार्थनाओं के लिये एकत्र हुए।

हिरोशिमा के पीस मेमोरियल पार्क में सम्पन्न प्रार्थना सभा में वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों सहित लगभग 70 राष्ट्रों के कूटनीतिज्ञ एवं हज़ारों नागरिक शामिल हुए।

इस अवसर पर हिरोशिमा के नगराध्यक्ष ने सभा में उपस्थित जापान के प्रधान मंत्री शिन्ज़ो आबे से शांति कायम रखने की अपील की। उन्होंने कहाः "69 वर्षों तक हमने युद्ध से परहेज़ किया है और इसका श्रेय केवल जापानी संविधान की नेक शांतिवादी नीति को जाता है।"

नगराध्यक्ष महोदय का इशारा सरकार के उस निर्णय की ओर था जिसमें सरकार ने संविधान में संशोधन की बात कर वस्तुतः इसके अनुच्छेद 09 को हटाने का सुझाव दिया है। इस अनुच्छेद के तहत जापान किसी प्रकार के आक्रामक युद्ध में लिप्त नहीं हो सकता।

बुधवार की प्रार्थना सभा के दौरान परमाणु बम के शिकार लोगों को याद किया गया तथा प्रभु ईश्वर से जापान में शांति हेतु प्रार्थना की गई।

06 अगस्त, 1945 ई. को अमरीकी बी-29 बमवर्षक विमान ने हिरोशिमा पर परमाणु बम गिराया था। इस विस्फोट के चलते 10 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में गहरे गड्ढे बन गए थे तथा हिरोशिमा में जगह-जगह आग लग गई थी जो तीन दिनों तक जारी रही। विस्फोट में लगभग 80 हज़ार लोगों की तत्काल मौत हो गई थी। विस्फोट के बाद इतनी गर्मी थी कि लोग सीधे जल गए। इसके बाद हज़ारों लोग परमाणु विकिरण संबंधी बीमारियों के चलते मारे गए। इस विस्फोट में कुल 1,35,000 लोगों की मौत हुई है।








All the contents on this site are copyrighted ©.